मथुरा: सात महीने बाद खुला था बांकेबिहारी मंदिर, फिर बंद के आदेश से श्रद्धालुओं में छाई मायूसी

0
2


मथुरा। विश्व प्रसिद्ध ठाकुर बिहारीजी का मंदिर अनिश्चितकाल के लिए अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। सात महीने बाद खुले बिहारी जी के पट दो दिन के दृश्यों के बाद 19 अक्टूबर से बंद हो रहे हैं। रविवार दोपहर मंदिर के प्रबंधक मुनीश शर्मा ने बताया कि 19 अक्टूबर से अगले आदेश तक मंदिर बंद किया जा रहा है।

वैश्विक महामारी कोविड -19 के प्रकोप के कारण 22 मार्च से वृंदावन का प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया था। 17 अक्टूबर को मंदिर प्रशासन और जिला प्रशासन की सहमति के बाद बांके बिहारी मंदिर में दर्शन के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था चालू की गई। शनिवार को नवरात्र के पहले दिन मंदिर श्रद्धालुओं के लिए खोला गया था लेकिन श्रद्धालुओं की भीड़ के आगे व्यवस्था चौपट हो गई।]पहले दिन ही लगभग 25 हजार श्रद्धालुओं ने बांके बिहारी के दर्शन किए। ऐसे में शारीरिक दूरी की व्यवस्था तार-तार हो गई। रविवार सुबह से पंजीकरण कराने वाले श्रद्धालुओं को ही दर्शन करने की अनुमति देने की व्यवस्था की गई थी, लेकिन वेबसाइट काम न करने से लेकर ऑनलाइन पंजीकरण की अनुमति मिल गई है। रविवार को श्रद्धालुओं को लाइन लगाकर बिना पंजीकरण के ही दर्शन कराए गए।

रविवार दोपहर में प्रबंधन ने फैसला लिया कि सोमवार 19 अक्टूबर से अगले आदेश तक मंदिर के पट फिर बंद किए जा रहे हैं। ऑनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था शुरू होने के बाद ही मंदिर के पट खोले जाएंगे। मंदिर प्रबंधन उमेश सारस्वत ने बताया कि मंदिर के अंदर सेवा नियमित रूप से चलती रहती है, श्रद्धालु मंदिर में दर्शन नहीं कर सकते।

यह खबर भी पढ़ें: थरूर ने कोरोनावेंट को लेकर सरकार को बताया कि विफल, भाजपा का जबरदस्त पलटवार

यह खबर भी पढ़ें: सुपरसोनिक फील्ड मिसाइल ब्रह्मोस का सफल परीक्षण, टारगेट पर लगाया गया सटीक निशाना





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here