इंदौर में महाठगी : बैग कंपनी की 14 लाख की क्रेडिट स्क्रिप बेची

0
1


Updated: | Wed, 21 Oct 2020 08:05 AM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Big fraud in Indore। डिजिटल सिग्नेचर का अनधिकृत उपयोग कर ड्यूटी क्रेडिट स्क्रिप (डीसीएस) बेचने वाले गिरोह की एक और शिकायत मिली है। गिरोह पर बैग बनाने वाली एक कंपनी ने 14 लाख रुपये की धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। मामले में डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड (डीजीएफटी) के दलाल की भूमिका सामने आई है। मंगलवार को पुलिस ने उसकी तलाश में दबिश दी लेकिन वह फरार हो गया।

साइबर सेल एसपी जितेंद्र सिंह के मुताबिक, एरावत फॉर्मा, वॉल्वो और म्हाले जैसी बड़ी कंपनियों की चार करोड़ रुपये की डीसीएस के आरोपित राजेश जगताप, मनोज लुंकड़, हर्षल घोड़के, अभिषेक ठाकुर, हिमांशु जैन, आशुतोष श्रीवास्तव को जेल भेज दिया गया है। वहीं आरोपितों के साथी वसीम (पुणे), सलीम (पुणे), शांतनु जटार, ऋषि सिंह और संजय दांदिया सहित अन्य की पुणे और मुंबई में तलाश की जा रही है। आरोपितों के विरुद्ध लगातार शिकायतें मिल रही हैं। मंगलवार को पीथमपुर की फ्लेक्सिटफ वेंचर इंटरनेशनल कंपनी के प्रतिनिधि ने 14 लाख रुपये की धोखाधड़ी की लिखित शिकायत दर्ज करवाई।

एसपी के मुताबिक, शिकायतकर्ता ने बताया कि साउथ तुकोगंज निवासी डीजीएफटी के एक दलाल ने फर्जीवाड़ा किया है। पुलिस ने वहां छापा मारा लेकिन आरोपित ऑफिस पर ताला लगाकर फरार हो गया। अभी तक की जांच में यह भी जानकारी मिली कि डिजिटल सिग्नेचर का उपयोग दलालों द्वारा ही किया जाता था। आरोपित खरीदारों से रुपये लेने के लिए बैंक के फर्जी प्रमाण पत्र भी बना लेते थे। कार्रवाई की जानकारी लगते ही डीजीएफटी कार्यालय में सक्रिय दलाल फरार हो गए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here