सीएम अमरिंदर सिंह के साथ वार्ता में किसान संगठनों का बड़ा फैसला, 15 दिन तक सभी ट्रेनों के लिए खोला रेल ट्रैक

0
2


पंजाब। केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ तकरीबन डेढ़ महीने से किसानों का आंदोलन पंजाब में जारी है। शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसान संगठनों से मुलाकात की और राज्य में सभी ट्रेनों के संचालन का मुद्दा उठाया। इस पर किसान संगठनों ने 23 नवंबर से सभी ट्रेनों के लिए 15 दिन तक ट्रैक खाली करने पर सहमति जताई है।

बैठक में गाड़ियों के संचालन ठप होने से पंजाब को हो रहा नुकसान का भी कैप्टन ने हवाला दिया। यह बैठक लगभग एक घंटे तक चली। हालांकि इस दौरान किसान संगठनों ने कहा कि केंद्र सरकार को इन 15 दिनों में खुली वार्ता करनी होगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो 15 दिन बाद किसान संगठन अपना आंदोलन फिर शुरू करेंगे। वहीं किसानों के प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो आंदोलन’ में कोई बदलाव नहीं किया गया है। पंजाब के किसान 26 नवंबर को दिल्ली कूच करेंगे।

किसान यूनियनों के साथ एक सार्थक बैठक हुई। यह साझा करते हुए खुशी है कि 23 नवंबर की रात से किसान संगठनों ने 15 दिनों के लिए ट्रैक खोलने का फैसला लिया है। मैं इस कदम का स्वागत करता हूं, क्योंकि यह हमारी अर्थव्यवस्था को सामान्य स्थिति में लाएगा। मैं केंद्र सरकार से पंजाब में रेल सेवाओं को फिर से शुरू करने का अनुरोध करता हूं। कैप्टन अमरिंदर सिंह, मुख्यमंत्री, पंजाब

पंजाब में यूरिया की कमी
पंजाब में मालगाड़ियों के न चलने का असर यूरिया की आपूर्ति पर पड़ा है। पंजाब में इस समय यूरिया और तापीय विद्युत संयत्रों में कोयले की भारी कमी है। वहीं अवाश्यक वस्तुओं की आपूर्ति भी ठप है। पंजाब सरकार ने किसानों से अनुरोध किया था कि वे रेल रोको आंदोलन वापस ले लें लेकिन किसानों का कहना था कि राज्य सरकार यूरिया की आमद की व्यवस्था खुद करे और पंजाब के जरिए पंजाब तक लाए।

पंजाब में एक अक्टूबर से किसान संगठन केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं और प्रमुख राजमार्गों पर स्थित विभिन्न टोल प्लाजा पर उनका धरना भी जारी है। आंदोलनकारी किसानों ने टोल प्लाजा के कर्मचारियों को वाहनों से टोल वसूलने पर रोक दिया है।

ये टोल प्लाजा से सभी वाहनों को बिना टोल के गुजरने दिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि पंजाब में एनएचएआई के 25 टोल प्लाजा हैं। एनएचएआई के चंडीगढ़ में क्षेत्रीय अधिकारी आरपी सिंह ने बताया कि किसान संगठन टोल प्लाजा पर डेढ़ महीने से आंदोलन कर रहे हैं, जिससे लगभग 150 करोड़ रुपये का नुकसान हो गया है।

यह खबर भी पढ़ें: ड्रग्स कनेक्शन: प्रसिद्ध कामेडियन भारती सिंह को NCB ने गिरफ्तार किया, घर से बरामद हुआ उच्च स्तर का गांजा





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here