टीम इंडिया के पूर्व सेलेक्टर ने दिया बड़ा बयान, बताया- वर्ल्ड कप 2019 में कहां हुई थी गलती

0
1


डेस्क। टीम इंडिया वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार गई थी। इंग्लैंड में हुए क्रिकेट से सबसे बड़े टूर्नामेंट के लिए चुने गए भारतीय दल में अंबाती रायुडू को शामिल नहीं किया गया था। इसके बाद काफी विवाद हुआ था और रायुडू ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास भी ले लिया था। अब भारतीय टीम के मौजूदा चयनकर्ता देवांग गांधी ने कहा है कि रायुडू को टीम में शामिल नहीं करना हमारी गलती थी। इसका अहसास हमें बाद में हुआ था।  

गांधी ने कहा, ‘हां रायडू को नहीं चुनना गलती थी। आखिर हम भी इंसान हैं। उस समय लग रहा था कि हमने सही टीम चुनी है लेकिन बाद में लगा कि रायडू की मौजूदगी टीम की मदद करती। टीम इंडिया ने पूरे टूर्नामेंट में सिर्फ एक दिन खराब क्रिकेट खेला और रायडू की गैरमौजूदगी एक बड़ा मुद्दा बन गई। मैं रायडू की प्रतिक्रिया को समझ सकता हूं।’

टीम की हार की वजह कमजोर मिडिल ऑर्डर बताया गया। वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया के चयनकर्ताओं ने कमजोर मिडिल ऑर्डर चुना था।उसमें विजय शंकर और ऋषभ पंत जैसे अनुभवहीन खिलाड़ी थे जबकि अंबाति रायडू जैसे अनुभवी खिलाड़ी को सेलेक्टर्स ने मौका ही नहीं दिया।सेलेक्टर्स के इस फैसले का जमकर विरोध किया गया था। 

देवांग ने यह भी बताया कि सूर्यकुमार यादव को टीम में क्यों नहीं चुना जा रहा है। देवांग ने सूर्यकुमार को बाहर रखने के सवाल पर कहा, ‘‘मैं विशेषज्ञों से अनुरोध करूंगा कि जब वे सूर्यकुमार के बारे में बात कर रहे हैं, तो उन्हें यह भी बताना चाहिए कि किसे बाहर रखा जाना चाहिए था। भारत के पास एक बेहतरीन बेंच स्ट्रेंथ है। एक जगह के लिए चार समान रूप से अच्छे खिलाड़ी हो सकते हैं। जाहिर है आपको कुछ प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को बाहर रखना होगा। सूर्यकुमार एक शानदार खिलाड़ी हैं, लेकिन उन्हें धैर्य रखना होगा। उन्हें लगातार प्रदर्शन करते रहना होगा। मयंक अग्रवाल एक ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने टीम में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है।’’

यह खबर भी पढ़े: ISL 2020/ नॉर्थईस्ट यूनाइटेड ने मुंबई सिटी को 1-0 से हराकर किया टूर्नामेंट का पहला उलटफेर

यह खबर भी पढ़े: महिलाओं पर मेहरबान हुआ रेलवे, लोकल ट्रेनों में यात्रा को लेकर लिया ये बड़ा फैसला

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here